Thursday, 21st March 2019 04:40 am
Home  >  देश

गंगा सफाई पर आरटीआई में हुआ सरकार की नीयत का खुलासा, दो साल में समिति की नहीं हुई एक भी बैठक

Published on March 11 2019 06:54 pm  |  Author: अंकुर मिश्रा

प्रधानमंत्री मोदी की अध्यक्षता में बनी गंगा परिषद (नेशनल गंगा काउंसिल या एनजीसी) को दो साल हो गये लेकिन आज तक इसकी एक भी बैठक नहीं हुई है। पीएम मोदी के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार गंगा की सफाई को लेकर कितनी चिंतित है, इस बात का पता आपको द वायर द्वारा किये गये आरटीआई खुलासे से पता चलेगा। न्यूज़ एजेंसी द वायर द्वारा दायर किये गये एक आरटीआई में इस बात का खुलासा हुआ है। नियम के अनुसार परिषद की साल में कम से कम एक बार बैठक होनी चाहिए, लेकिन दो साल में परिषद की एक भी बैठक नहीं हुई है। साथ ही यह भी बता दें कि पीएम मोदी की अध्यक्षता वाली समिति गंगा की सफाई से लेकर प्रबंधन की निगरानी तक का काम इसी के जिम्में हैं। 

डॉ. मनमोहन सिंह के नेतृत्व वाली यूपीए सरकार में राष्ट्रीय गंगा नदी बेसिन प्राधिकरण (एनजीआरबीए) का गठन 5 अक्टूबर 2009 को हुआ था। जिसके बाद पूर्व पीएम मनमोहन सिंह कि अध्यक्ष में 2009 से लेकर 2012 तक इसकी कुल 3 बैठक हुई थी, यह सिलसिला आगे भी चला जब 2014 में सत्ता परिवर्तन हुआ तब भी 2014  से लेकर 2016 तक इसकी तीन बैठक हुई, जिसमें एक बैठक खुद पीएम मोदी ने की थी, और बाकि दो बैठक केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने की थी, लेकिन यह सिलसिला उसके बाद टूट गया और आज तक इसकी कोई भी बैठक नहीं हुई। 

छपी खबर के अनुसार गंगा के किनारे बसे 97 में से 66 शहरों के नाले का पानी सीधे गंगा में जाकर गिरता है। जिसमें से अकेले पश्चिम बंगाल के लगभग 78 फीसदी नाले सीधे सीधे गंगा में जाकर गिरते हैं। गंगा नदी के किनारे बसे राज्य जैसे उत्तर प्रदेश, बिहार, उत्तराखंड, झारखंड और पश्चिम बंगाल के शहर प्रदूषण के सबसे बड़े कारण हैं, जिसमें सबसे ज्यादा प्रदूषण पश्चिम बंगाल से मिलता है। साथ ही यह भी बता दें की गंगा की सफाई के लिए भारत सरकार द्वारा लगभग 24,672 करोड़ के लागत की कुल 254 परियोजनाओं को अनुमति भी दी गई है। 

सरकार द्वारा गंगा के लिए किये जा रहे कामों पर टिप्पणी करते हुए पर्यावरणविद् रवि चोपड़ा ने पीएम मोदी पर हमला करते हुए कहा कि “गंगा को लेकर यह आख़िरी निर्णायक बॉडी है, इसकी कम से कम साल में दो बैठक होनी चाहिए थी, अगर प्रधानमंत्री एक भी बैठक नहीं कर पा रहे हैं तो इससे सवाल उठता है कि क्या वाकई में ये कोई निर्णायक बॉडी है या कोई जुमला है।” 

हम एक स्वतंत्र मीडिया हैं एवं मीडिया को निष्पक्ष रह कर रिपोर्टिंग करने एवं चलाने के लिए धन की जरूरत होती है। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए कृपया आर्थिक मदद करे।

Donate Now     Donate via Paypal

Tags: #Ganga    #NGC    #PM Modi    #NDA    #UPA    #Manmohan Singh    #NGRBA    #RTI    #Ravi Chopra    #uttar pradesh    #bihar   

About अंकुर मिश्रा
अंकुर मिश्रा भारतीय राजनीति के जानकार पत्रकार है। इन्होंने अपनी शिक्षा हिंदी विषय में दिल्ली विश्वविद्यालय से पूरी की है। अंकुर पत्रकारिता के साथ ही कविता पाठ में भी दिलचस्पी रखते है। Email- ankurlive01@gmail.com

Related News

आजाद हुए समझौता एक्सप्रेस बम कांड के आरोपी स्वामी असीमानंद सहित अन्य चार, कोर्ट ने किया बरी

देश 8 hours ago

मध्य प्रदेश: दावेदारों की उठापटक के बीच भाजपा ने तय किये 8 सीटों पर प्रत्याशी, 23 मार्च को आएगी पूरी सूची

लोकसभा चुनाव 2019 8 hours ago

भोपाल एसटीएफ ने पकडे तीन अफीम तस्कर, ममता के पश्चिम बंगाल से लाये थे 1 करोड़ के अफीम

प्रदेश 8 hours ago

बड़ी खबर: मायावती नहीं लड़ेगी लोकसभा चुनाव, खुद किया ऐलान

लोकसभा चुनाव 2019 11 hours ago
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.OK
×

Subscribe Our Newsletter