Friday, 19th April 2019 10:34 am
Home  >  देश

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के नाम पर 16 हजार करोड़ का घोटाला, 85 लाख किसानों का मोहभंग

Published on November 14 2018 03:30 pm  |  Author: हर्ष सोनी

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की आड़ में घोटाले का खेल चल रहा है। आरटीआई से मिली जानकारी में 16 हजार करोड़ के घोटाले का खुलासा हुआ है। किसानों को दी जाने वाली राशि उनकी जगह बीमा कंपनियों की तिजोरी में पहुंच गई। सूचना का अधिकार यानी आरटीआई से प्राप्त जानकारी बताती है कि इस योजना को दो बरसों में 85 लाख किसानों ने छोड़ा है। इसमें 68 लाख किसान केवल चार बड़े राज्यों के हैं। इन में मध्य प्रदेश के 2.90 लाख, राजस्‍थान के 31.25 लाख, महाराष्ट्र के 19.47 लाख, जबकि उत्तर प्रदेश के 14.69 लाख किसान शामिल हैं। 

स्थिति बताती है कि हालात किस कदर गंभीर है। आंकड़े भी आरटीआई के सवाल के जवाब खुद कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय की तरफ से मुहैया कराए गए हैं। पानीपत के एक आरटीआई ‌एक्टिविस्ट पीपी कपूर ने आरटीआई से यह जानकारी जुटाई है। सरकारी क्षेत्र की एग्रीकल्चर इंश्योरेंस कंपनी आफ इंडिया के अलावा 10 निजी बीमा कंपनियों ने योजना से दो साल में कुल 15795 करोड़ रुपये कमाए।वर्ष 2016-17 में बीमा कंपनियों की औसत कमाई प्रतिमाह 538 करोड़ रुपये रही तो 2017-18 में यह 778 करोड़ प्रतिमाह पर पहुंच गई। वर्ष 2016-17 में कुल 5.72 करोड़ किसानों का बीमा किया गया, जबकि 2017-18 में इनकी संख्या घटकर 4.87 करोड़ रह गई। साफ है बीमा कंपनियों की मुनाफे में बढोत्तरी दो साल में ही डेढ़ सौ फीसदी से भी ज्यादा पर पहुंच गई। यानी यह बड़ा घोटाला हुआ। अगर यह राशि बीमा कंपनियों की जगह किसानों के पास पहुंचती तो इससे उनकी स्थिति में सुधार होता।

वहीं,  हरियाणा की बात करें तो वहां जरूर किसानों को यह योजना रास आई है। यहां दो साल में बीमाकृत किसानों की संख्या में 15 फीसदी से ज्यादा का इजाफा हुआ है। यहां 2016-17 में किसानों से 365 करोड़ का प्रीमियम वसूला गया, जबकि 293 करोड़ मुआवजे के रूप में बांटे गए। इसी तरह 2017-18 में बीमा कंपनियों ने कुल 453 करोड़ का प्रीमियम वसूला, जबकि किसानों को मुआवजे के तौर पर 358 करोड़ रुपये बांटे।

हम एक स्वतंत्र मीडिया हैं एवं मीडिया को निष्पक्ष रह कर रिपोर्टिंग करने एवं चलाने के लिए धन की जरूरत होती है। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए कृपया आर्थिक मदद करे।

Donate Now     Donate via Paypal

Tags: #farmers    #fasal bima yojna    #crop insurance    #modi    #scam   

About हर्ष सोनी
हर्ष सोनी इंडिया पॉलिटिक्स के मुख्य संपादक है। अपनी पहली तकनीकी समाचार वेबसाइट स्थापित करने से पहले हर्ष ने फ्रीलांसर पत्रकार के रूप में कई समाचार प्रकाशनों के लिए आलेख लिखे। वे हमेशा ख़बरों को रचनात्मक ढंग से प्रस्तुत करने का तरीका ढूंढते है। Email- info@india-politics.com

Related News

टिकटॉक के बाद अब पबजी (PUBG) पर खतरा, राजकोट पुलिस ने की बैन करने की मांग

टेक न्यूज़ 14 hours ago

पीएम मोदी के नाम का जप कर रहे पाकिस्तानी शरणार्थी, मोदी को ही देंगे वोट

लोकसभा चुनाव 2019 14 hours ago

योगी पर चुनाव आयोग का बैन नाकाम? सीएम ने शुरू किया मंदिर विचरण

लोकसभा चुनाव 2019 14 hours ago

अब हिंदुत्व के सहारे चुनावी वैतरणी मे भाजपा, अयोध्या पीछे छूटा

लोकसभा चुनाव 2019 17 hours ago
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.OK
×

Subscribe Our Newsletter