Monday, 22nd April 2019 10:27 am
Home  >  प्रदेश

मप्र: वापस होंगे बीजेपी के समय ईसाई समुदाय पर दर्ज हुए धर्मांतरण के मामले

Published on January 22 2019 04:07 pm  |  Author: अंकुर मिश्रा

मध्य प्रदेश के कानून मंत्री पीसी शर्मा ने संकेत दिया है कि भाजपा शासन के पिछले पंद्रह सालों में ईसाइयों के खिलाफ दर्ज जितने भी राजनीतिक मामलें हैं वे वापस लिए जायेंगे।राष्ट्रीय ईसाई महासंघ के बैनर तले कानून मंत्री से मिलने ईसाई समुदाय के लोगों का प्रतिनिधिमंडल पहुंचा, मुलाकात के दौरान पीसी शर्मा को ईसाई समुदाय के लोगों ने एक ज्ञापन सौंपा। जिसमें उन्होंने कहा कि प्रदेश में साल 2003 से लेकर साल 2018 तक धर्मांतरण के करीब 300 झूठे मामले दर्ज किए गए है। 

राष्ट्रीय ईसाई महासंघ के राष्ट्रीय संयोजक फादर डॉ. आनंद मुंटूगल ने कहा कि जब से प्रदेश में भाजपा की सरकार आई है तब से से ईसाईयों पर कांग्रेस कार्यकर्ता होने का आरोप लगाकर धर्मांतरण के फर्जी मामले बनाए गए हैं।

आगे उन्होंने कहा कि भाजपा और उनसे जुड़े कट्टरपंथी दलों का कहना है कि ईसाई समुदाय से जुड़े लोग कांग्रेस समर्थक हैं यही कारण है कि हमारे खिलाफ सामाजिक, शैक्षणिक व धार्मिक गतिविधियों के आधार पर स्थानीय शासन की मदद से फर्ज़ी मामले दर्ज किए गए। फादर मुंटूगल ने बताया कि हमने मध्य प्रदेश सरकार से 3 प्रमुख मांग की है, जिसमें साल 2003 से 2018 तक प्रदेश में ईसाईयों पर दर्ज मुकदमों की जांच की जाए और जो मुकदमें ईसाईयों को प्रताड़ित करने के उद्देश्य से दर्ज करवाए गयें हैं उन्हें वापस लिया जाए, साथ जिन लोगों ने जूठे मामले बनाये हैं उनकी पहचान करके कार्यवाई की जाए। वहीं अगर पीसी शर्मा की माने तो ईसाईयों पर बदले की भावना से दर्ज हुए मामले वापस लिए जायेंगे और ईसाई समुदाय के लोगों को राहत पहुंचाया जायेगा।

राष्ट्रीय ईसाई महासंघ के अनुसार जब से मध्य प्रदेश में शिवराज सरकार आई है, उसी साल 4 दिसम्बर 2003 में झाबुआ ज़िले में पहला सामने आया, जहां ईसाई समुदाय के लोगों पर हमला हुआ, इस दौरान एक शख्स की मौत भी हो गयी थी। इसके अलावा भी 264 मामलों की जानकारी राष्ट्रीय ईसाई महासंघ के पास हैं, फादर मुंटूगल ने कहा कि और भी मामलें हैं जिनकी जानकारी हमकों नहीं है।

इस मुद्दे पर भाजपा का कहना है कि अगर धर्मांतरण के मामले वापस लिए गये तो भाजपा इसका डटकर विरोध करेगी। वहीं भाजपा प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल ने कहा कि मध्य प्रदेश सरकार जिस तरह मामले को वापस लेने की बात कर रही है, उससे तो यही लगता है कि कमलनाथ सरकार धर्मांतरण का समर्थन कर रही है।

हम एक स्वतंत्र मीडिया हैं एवं मीडिया को निष्पक्ष रह कर रिपोर्टिंग करने एवं चलाने के लिए धन की जरूरत होती है। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए कृपया आर्थिक मदद करे।

Donate Now     Donate via Paypal

Tags: #Madhya Pradesh    #Kamal Nath    #Shivraj Singh    #PC Singh    #Christian Community    #Rajneesh Agarwal   

About अंकुर मिश्रा
अंकुर मिश्रा दिल्ली यूनिवर्सिटी से हिंदी में ग्रेजुएट है। अपनी पढाई के दौरान अंकुर विश्वविद्यालय की राजनीती में रहे है और वे भारतीय राजनीति में बेहद दिलचस्पी रखते है। इंडिया पॉलिटिक्स में अंकुर इनपुट डेस्क पर राइटर एवं रिपोर्टर का कार्य कर चुके है। अंकुर को पत्रकारिता के साथ-साथ कवि सम्मलेन एवं कविता पाठ का भी अनुभव है। Email- ankurlive01@gmail.com

Related News

राजस्थान की इन सीटो पर हावी है वंशवाद, हर सीट पर एक खास परिवार का बना है वर्चस्व

लोकसभा चुनाव 2019 1 day ago

मोदी ने कांग्रेस पर साधा निशाना- 'बाटला हाउस कांड शहीदों का अपमान नहीं था'

लोकसभा चुनाव 2019 1 day ago

मोदी के गोद लिए गांव में विकास की ये है हालत, जर्जर पड़ा है जयापुर

लोकसभा चुनाव 2019 1 day ago

मोदी को एमपी के जबलपुर में जनसभा के लिए नही मिली अनुमति, प्रतिनिधि मंडल ने दर्ज की शिकायत

लोकसभा चुनाव 2019 1 day ago
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.OK
×

Subscribe Our Newsletter