Monday, 22nd April 2019 10:19 am
Home  >  प्रदेश

महाराष्ट्र सरकार की बढ़ सकती है मुश्किलें, 20 हज़ार से ज़्यादा किसान करेंगे मुंबई कूच

Published on November 15 2018 03:59 pm  |  Author: हितेश कुमार

महाराष्ट्र की सरकार किसानों की समस्याएं सुलझाने में लगातार नाकामयाब साबित हो रही है। किसान आत्महत्या को मजबूर हैं। फसल को औने-पौने दामों पर बेचने से किसानों पर कर्ज का बोझ लगातार बढ़ता जा रहा है। जिस से आहत किसान आत्महत्या को मजबूर हो रहे हैं। भाजपा के नेतृत्व वाली देवेंद्र फडणवीस सरकार को किसानों ने चेतावनी देते हुए कहा है कि हमारी मांगों पर विचार नहीं किए जाने के कारण आगामी 21 नवंबर को विधानसभा कूच करेंगे। किसानों के नेता प्रतिभा शिंदे ने कहा कि इस संबंध में सरकार को 20,000 से ज्यादा पोस्ट कार्ड भेजे जा चुके हैं, जिसमें किसानों के दुख दर्द की चर्चा की गई है। साथ ही साथ, सरकार से यह अनुरोध भी किया गया है कि हमारी मांगों को जल्द से जल्द पूरा किया जाए। उन्होंने बताया कि किसानों की मांगों पर विचार नहीं किया गया तो किसान बड़े आंदोलन को मजबूर होंगे।

बता दें कि 19 नवंबर से शुरू हो रहे महाराष्ट्र विधानसभा के सत्र के तुरंत बाद 21 नवंबर को 20 हजार से ज्यादा किसान विधान भवन का घेराव को पहुंचेंगे। उन्होंने बताया कि इसमें ज्यादातर किसान और आदिवासी समाज से लोग शामिल होंगे। लोक संघर्ष मोर्चा के महासचिव प्रतिभा शिंदे ने कहा कि विधानसभा के शीतकालीन सत्र के दौरान अपनी मांगों को मनवाने के लिए किसान विधान भवन पहुंचने की तैयारी में जुटे हैं। उन्होंने बताया कि इस विधान भवन मार्च में जल विशेषज्ञ राजेंद्र सिंह और योगेंद्र यादव जैसे नेताओं भी शामिल होंगे। शिंदे ने कहा कि किसानों की तरफ से 15 सूत्री मांगों को सरकार के सम्मुख रखा गया है। जिसमें किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य में 50 फ़ीसदी का लाभ,  कृषि पंप ट्रांसफार्मर खराब होने पर 2 दिनों के अंदर मरम्मत, शीतकाल में सिंचाई के लिए बिजली, स्कूलों में पोषक आहार के रूप में केला उपलब्ध कराने समेत कई अन्य प्रमुख मांग शामिल हैं। 

महाराष्ट्र में एक बार फिर किसानों और आदिवासियों का एक बड़ा जत्था मुंबई कूच करने की तैयारी कर रहा है। इससे सरकार की परेशानी बढ़ सकती है। सरकार ने इन किसानों और आदिवासियों के विधान भवन मार्च से निपटने के लिए प्रशासन को भी सजग रहने का आदेश जारी किया है। सरकार के सूत्रों के मुताबिक किसानों को विधान भवन से पहले ही रोकने का पूरा इंतजाम कर लिया गया है।

ज्ञात हो कि हाल ही में किसानों का एक जत्था संसद के घेराव के लिए दिल्ली कूच किया था। जिस पर भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार ने किसानों पर पानियों की बौछार के साथ आंसू गैस के गोले भी छोड़े तथा जमकर लाठियां भी भांजी थी। जिसके बाद विपक्ष ने भाजपा सरकार को किसान विरोधी करार दिया था। किसानों पर हुए लाठीचार्ज की घटना को तमाम विपक्षी दलों ने निंदा किया था।

हम एक स्वतंत्र मीडिया हैं एवं मीडिया को निष्पक्ष रह कर रिपोर्टिंग करने एवं चलाने के लिए धन की जरूरत होती है। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए कृपया आर्थिक मदद करे।

Donate Now     Donate via Paypal

Tags: #Farmer    #BJP    #Devendra Fadnavis    #vidhan sabha    #kisan   

About हितेश कुमार
हितेश कुमार इंडिया-पॉलिटिक्स में बतौर फ्रीलांसर कार्यरत है। ये पौथु (बिहार) के रहने वाले है। हितेश पत्रकारिता में अभिरुचि होने के कारण विभिन्न विषयों पर अपने विचार लिखने की काबिलियत रखते है। इन्होने पत्रकारिता के क्षेत्र में एम.ए. की डिग्री प्राप्त कर, विभिन्न मीडिया हाउस में कार्य किया है। Email- hiteshkumarminku@gmail.com

Related News

राजस्थान की इन सीटो पर हावी है वंशवाद, हर सीट पर एक खास परिवार का बना है वर्चस्व

लोकसभा चुनाव 2019 1 day ago

मोदी ने कांग्रेस पर साधा निशाना- 'बाटला हाउस कांड शहीदों का अपमान नहीं था'

लोकसभा चुनाव 2019 1 day ago

मोदी के गोद लिए गांव में विकास की ये है हालत, जर्जर पड़ा है जयापुर

लोकसभा चुनाव 2019 1 day ago

मोदी को एमपी के जबलपुर में जनसभा के लिए नही मिली अनुमति, प्रतिनिधि मंडल ने दर्ज की शिकायत

लोकसभा चुनाव 2019 1 day ago
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.OK
×

Subscribe Our Newsletter