Monday, 22nd April 2019 10:32 am
Home  >  देश

नौकरियों पर एक मजबूत डेटा की आवश्यकता : पियूष गोयल

Published on January 21 2019 12:54 pm  |  Author: अंकुर मिश्रा

भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) से रोजगार सृजन पर चर्चा करते हुए रेलवे और कोयला मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि देश में नौकरियों की मांग और आपूर्ति के बीच एक अंतर है। गोयल ने कहा कि इसे लेकर कौशल विकास और मजबूत आंकड़ों की आवश्यकता है। सीआईआई द्वारा आयोजित कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि “हम उपलब्ध डेटा और वास्तविक स्थिति के बीच अंतर को समझने के लिए उद्योग जगत के साथ बातचीत कर रहे हैं। हम कई स्थानों की वास्तविक स्थिति और नौकरी की कमी को लेकर हो रही बहस को लेकर बात कर रहे हैं।”

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए गोयल ने कहा कि उद्यमियों के पास नौकरियां हैं पर उनके लिए कुशल प्रतिभाओं को तलाशना मुश्किल है। आगे उन्होंने कहा कि सरकार नौकरियों के आंकड़ों को लाने के लिए बेहतर तरीकों पर काम कर रही है, गोयल का कहना है कि “हम बेहतर तरीके से काम करने के लिए सीआईआई के साथ बातचीत कर रहे हैं।” शनिवार को गोयल ने कई कार्य समूहों से चर्चा की और नौकरियों पर एक मजबूत डेटा की आवश्यकता पर भी प्रकाश डाला। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि “उद्यमिता को आंकड़ों में मान्यता नहीं मिलती है और उपलब्ध डेटा बहुत समावेशी नहीं है और कई नए-पुराने उद्योगों को शामिल नहीं करता है, जैसे की टैक्सी समूह जो कि लागों लोगों को रोजगार देते हैं।”

अभी हाल ही में जारी हुई सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकोनॉमी (सीएमआईई) के आंकड़े बताते है कि दिसंबर 2018 में देश में बेरोजगारी दर 7.4% तक पहुंच गई, जो कि 15 महीनों में सबसे अधिक है। आंकड़ों का कहना है कि साल 2018 में लगभग 1.1 करोड़ लोगों ने अपनी नौकरियां खो दी हैं, इसके लिए सीएमआईई ने नोटबंदी और जीएसटी को जिम्मेदार ठहराया है।

कार्यक्रम में गोयल में कहा कि “रोजगार के अवसरों में तेजी से वृद्धि हुई है, हालांकि आंकड़े इस बढ़ती प्रवृत्ति को पर्याप्त रूप से दिखानें में असमर्थ हैं। युवाओं को भविष्य के लिए कौशल विकसित करने के लिए प्रोत्साहित किया जाना चाहिए और नौकरी चाहने वालों के बजाय नौकरी निर्माता बनने पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए।” साथ ही उन्होंने महाराष्ट्र में चल रहे बुनियादी ढांचे के विकास का उल्लेख भी किया और कहा कि “महाराष्ट्र रोजगार सृजन और राज्य द्वारा प्रदान किए जाने वाले अवसरों को उदाहरण के रूप में पेश करता है।

हम एक स्वतंत्र मीडिया हैं एवं मीडिया को निष्पक्ष रह कर रिपोर्टिंग करने एवं चलाने के लिए धन की जरूरत होती है। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए कृपया आर्थिक मदद करे।

Donate Now     Donate via Paypal

Tags: #CII    #Maharashtra    #Piyush Goyal    #Jobs    #CMIE    #Skill Development    #unemployment   

About अंकुर मिश्रा
अंकुर मिश्रा दिल्ली यूनिवर्सिटी से हिंदी में ग्रेजुएट है। अपनी पढाई के दौरान अंकुर विश्वविद्यालय की राजनीती में रहे है और वे भारतीय राजनीति में बेहद दिलचस्पी रखते है। इंडिया पॉलिटिक्स में अंकुर इनपुट डेस्क पर राइटर एवं रिपोर्टर का कार्य कर चुके है। अंकुर को पत्रकारिता के साथ-साथ कवि सम्मलेन एवं कविता पाठ का भी अनुभव है। Email- ankurlive01@gmail.com

Related News

राजस्थान की इन सीटो पर हावी है वंशवाद, हर सीट पर एक खास परिवार का बना है वर्चस्व

लोकसभा चुनाव 2019 1 day ago

मोदी ने कांग्रेस पर साधा निशाना- 'बाटला हाउस कांड शहीदों का अपमान नहीं था'

लोकसभा चुनाव 2019 1 day ago

मोदी के गोद लिए गांव में विकास की ये है हालत, जर्जर पड़ा है जयापुर

लोकसभा चुनाव 2019 1 day ago

मोदी को एमपी के जबलपुर में जनसभा के लिए नही मिली अनुमति, प्रतिनिधि मंडल ने दर्ज की शिकायत

लोकसभा चुनाव 2019 1 day ago
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.OK
×

Subscribe Our Newsletter