Friday, 19th April 2019 10:36 am
Home  >  राज्य चुनाव

कांग्रेस के गले की हड्डी बनी आरएसएस पर बैन की बात

Published on November 12 2018 03:40 pm  |  Author: हर्ष सोनी

मध्य प्रदेश में कांग्रेस की मुश्किल बढ़ सकती है। इस दफा दिग्गी राजा की जुबान नहीं, बल्कि कांग्रेस का घोषणापत्र उसके लिए मुसीबत बन सकता है। इसमें कांग्रेस ने शासकीय परिसर में शाखा लगाने पर रोक और शासकीय कर्मचारियों के इनमे भाग लेने पर रोक की घोषणा की है। इसे भाजपा राम मंदिर में भी अड़चन डालने से जोड़कर यहाँ चुनावी लाभ लेने की फ़िराक में है।  उधर कांग्रेस भी इस मामले में बैकफुट पर आकर सफाई देने में जुट गई है उसने पूर्ववर्ती उमा भारती और बाबूलाल गौर की सरकार का हवाला देते हुए शाखा संबंधी अपनी घोषणा को उचित करार दिया है।

मध्यप्रदेश में आने वाली 28 नवम्बर को वोट पड़ने हैं, ऐसे में यहाँ सियासत चरम पर है। भाजपा के खिलाफ सत्ता विरोधी लहर का डर पार्टी के नेताओं को सता रहा था लिहाजा उन्होंने अपनी रणनीति बदल ली।

अपनी उपलब्धियां  गिनाने की बजाय अब उनका ध्यान कांग्रेस के 10 साल की नाकामी गिनाने पर है इसमें उन्होंने पूरा जोर लगा दिया है। ऐन वक्त पर पार्टी ने राम मंदिर मसला उछाल दिया है वह कांग्रेस को मंदिर विरोधी करार देते हुए मध्य प्रदेश में वोटों के ध्रुवीकरण के प्रयास में है। ऐसे में घोषणापत्र में किये गए वादे उसे कांग्रेस को और चोट पहुँचाने की तैयारी में हैं मुद्दों को लेकर कांग्रेस में हमेशा से भ्रम की स्थिति रही है। जिसका फायदा अब भाजपा उठाने की कोशिश कर रही है। किसी भी बयान को अपने पक्ष में तोड़ने-मरोड़ने में माहिर भाजपा नेता संबित पात्रा खुद सारे मामले को लेकर कांग्रेस पर निशाना साधने में जुट गए है। 

साफ़ है की मध्य प्रदेश में भाजपा को अपने काम गिनाने से ज्यादा फायदा कांग्रेस की असफलताएं गिनाने में मिलता दिख रहा है। जिसे वह हाथ से जाने देने को तैयार नहीं दिखती।

हम एक स्वतंत्र मीडिया हैं एवं मीडिया को निष्पक्ष रह कर रिपोर्टिंग करने एवं चलाने के लिए धन की जरूरत होती है। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए कृपया आर्थिक मदद करे।

Donate Now     Donate via Paypal

Tags: #rss    #madhya pradesh    #vidhan sabha chunav    #mp election    #bjp    #congress   

About हर्ष सोनी
हर्ष सोनी इंडिया पॉलिटिक्स के मुख्य संपादक है। अपनी पहली तकनीकी समाचार वेबसाइट स्थापित करने से पहले हर्ष ने फ्रीलांसर पत्रकार के रूप में कई समाचार प्रकाशनों के लिए आलेख लिखे। वे हमेशा ख़बरों को रचनात्मक ढंग से प्रस्तुत करने का तरीका ढूंढते है। Email- info@india-politics.com

Related News

टिकटॉक के बाद अब पबजी (PUBG) पर खतरा, राजकोट पुलिस ने की बैन करने की मांग

टेक न्यूज़ 14 hours ago

पीएम मोदी के नाम का जप कर रहे पाकिस्तानी शरणार्थी, मोदी को ही देंगे वोट

लोकसभा चुनाव 2019 14 hours ago

योगी पर चुनाव आयोग का बैन नाकाम? सीएम ने शुरू किया मंदिर विचरण

लोकसभा चुनाव 2019 14 hours ago

अब हिंदुत्व के सहारे चुनावी वैतरणी मे भाजपा, अयोध्या पीछे छूटा

लोकसभा चुनाव 2019 17 hours ago
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.OK
×

Subscribe Our Newsletter