Monday, 22nd April 2019 09:29 am
Home  >  लोकसभा चुनाव 2019

शिवसेना से हर कीमत पर लोकसभा चुनाव 2019 में गठबन्ध बनाये रखना चाहती है भाजपा

Published on October 17 2018 01:27 pm  |  Author: अबुवहाब चौधरी

लोकसभा चुनाव 2019 नज़दीक है और भाजपा अपनी गठबंधन वाली पार्टियों से उनकी गतिविधियों को लेकर अब उनसे संपर्क साध रही है। बीते सोमवार को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र  फडणवीस और बीजेपी के प्रदेशाध्यक्ष रावसाहेब दानवे दिल्ली गए थे। सूत्रों से खबर है, कि उन्होंने वहां पार्टी के संगठन महासचिव रामलाल से मुलाकात की और उन्हें समझाया कि इस बार किसी भी कीमत पर शिवसेना से गठबंधन नहीं टूटना चाहिए वरना आगामी चुनाव में भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है। फिर अगले दिन बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह मुंबई आये।

दरअसल इसकी वजह क्या है, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र क्यों चिंतित है?

क्योकि शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे की तरफ से ऐसे कुछ इशारे मिले है, कि इस बार वो बीजेपी के साथ गठबंधन नहीं करेंगे। यह सन्देश उद्धव की तरफ से शिव सेना के सांसद संजय राउत के जरिये भेजे जाने की खबर आई है। वहीँ देवेन्द्र फडणवीस कह चुके है, कि अगर बीजेपी और शिवसेना अलग-अलग चुनाव लड़ेगी तो इसका नुक्सान दोनों ही पार्टियों को होगा।

अमित शाह ने मुंबई आकर RSS के ऑफिस में संघ के बड़े-बड़े नेताओ से इस बारे में मुलाक़ात की। बीजेपी के सूत्रों से पता चला है, कि अमित शाह यहाँ शिवसेना के अयोध्या कूच और उनके अकेले चुनाव लड़ने की बात को लेकर वार्तालाप करने आये थे। अमित शाह ने बोला कि ऐसे तो सारे महाराष्ट्र के हिन्दू वोट विभाजित हो जाएंगे।

वैसे भी शिवसेना के लिए हमेशा से ही दशहरा महत्त्व रखता है। खबर है कि शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे दशहरा में ही बीजेपी से अलग होने की बात को पब्लिक के सामने बोल सकते है। वैसे भी शिवसेना पहले ही अयोध्या के मामले को लेकर बीजेपी को घेर रही है। उद्धव गठबंधन तोड़ेंगे या नहीं इसका तो पता नहीं पर शिव सेना ये फैसला सोच समझकर लेगी। क्योकि अगर वो गठबंधन तोड़ते है, तो कहीं एनसीपी बीजेपी से गठबंधन न कर ले ये भी शिवसेना को एक डर रहेगा। इसलिए जो भी फैसला होगा बहुत सोचकर लिया जायेगा।

शिव सेना ने अयोध्या जाने के लिए पूरी तैयारी कर ली है, उन्होंने इस अयोध्या यात्रा के लिए वारकरी प्रबोधन समिति के साथ बैठक कर ली है, और हिन्दुओ को किस तरह रिझाया जाये अपनी तरफ ये शिवसेना को बखुबी आता है। वही बीजेपी शिव सेना को कुछ प्रमुख मंत्रालय देकर जरूर अपनी तरफ करना चाहेगी। अब देखते है क्या होता है, दशहरा तक इन्तजार करना पड़ेगा।

हम एक स्वतंत्र मीडिया हैं एवं मीडिया को निष्पक्ष रह कर रिपोर्टिंग करने एवं चलाने के लिए धन की जरूरत होती है। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए कृपया आर्थिक मदद करे।

Donate Now     Donate via Paypal

Tags: #lok sabha election    #bjp    #shiv sena    #amit shah    #ramlal    #udhav thakre    #devendra fadnavis    #   

About अबुवहाब चौधरी
अबुवहाब चौधरी मुम्बई के रहवासी और इंडिया-पॉलिटिक्स में बतौर फ्रीलांसर कार्यरत है। ये एक समाचार एवं फिल्म लेखक है। वहाब पत्रकारिता में किसी किस्म का पक्षपात नहीं करते एवं ताज़ा खबरों की तलाश में रहते है। Email- abuwahabchaudhary@gmail.com

Related News

राजस्थान की इन सीटो पर हावी है वंशवाद, हर सीट पर एक खास परिवार का बना है वर्चस्व

लोकसभा चुनाव 2019 1 day ago

मोदी ने कांग्रेस पर साधा निशाना- 'बाटला हाउस कांड शहीदों का अपमान नहीं था'

लोकसभा चुनाव 2019 1 day ago

मोदी के गोद लिए गांव में विकास की ये है हालत, जर्जर पड़ा है जयापुर

लोकसभा चुनाव 2019 1 day ago

मोदी को एमपी के जबलपुर में जनसभा के लिए नही मिली अनुमति, प्रतिनिधि मंडल ने दर्ज की शिकायत

लोकसभा चुनाव 2019 1 day ago
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.OK
×

Subscribe Our Newsletter