Monday, 22nd April 2019 10:20 am
Home  >  प्रदेश

सवर्णों के समर्थन में उतरे अश्विनी चौबे, तो जदयू ने बताया सिरफिरा

 Image Credit: PTI

Published on October 01 2018 01:26 pm  |  Author: हितेश कुमार

अनुसूचित जाति/जनजाति अत्याचार अधिनियम को पूर्ववत लागू किए जाने के केंद्र सरकार के निर्णय का विरोध कर रहे सवर्ण संगठनों ने केंद्रीय मंत्री और और बक्सर से सांसद अश्विनी चौबे, बिहार भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय को कार्यक्रम के दौरान काला झंडा दिखाकर अपना विरोध दर्ज कराया। भाजपा नेताओं को निशाना बना रहे सवर्ण संगठन ने बिहार निवासी भाजपा नेता और दिल्ली प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी के घर पर काला झंडा दिखाकर विरोध किया। स्वर्णों के इस विरोध के बाद पटना पहुंचे अश्विनी चौबे ने मीडिया को दिए बयान में कहा कि सवर्णों पर प्रदर्शन के दौरान लाठीचार्ज की घटना को निंदनीय बताया। इसके बाद राजनीतिक सरगर्मी तेज़ हो गई। अश्विनी चौबे के बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए जनता दल यूनाइटेड के महासचिव श्याम रजक ने लाठीचार्ज के विरोध करने वाले नेताओं को सिरफिरा बताया। कहा कि जो लोग लाठीचार्ज का विरोध करते हैं, वह सिरफिरे हैं। 

स्वर्णों पर हुए लाठीचार्ज की घटना को पखवाड़ा बीत जाने के बाद इस मामले को तूल देने की बात पर हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के राष्ट्रीय महासचिव ई. अजय यादव ने कहा कि भाजपा तो इन्हीं के वोट पर राजनीति करती आई है, तो अश्विनी चौबे का विरोध और निंदा समझ में आता है। लेकिन जनता दल यूनाइटेड का भाजपा नेता पर दिया गया बयान सीट बंटवारे में दबाव बनाने का एक जरिया है। उन्होंने स्पष्ट कहा कि ऐसा भी प्रतीत होता है कि भाजपा नीतीश कुमार को चार-पांच सीट दे दे तो काफी है। उन्होंने कहा कि भाजपा और जदयू के लोग आपस में मरने-मारने तब तक उतारू हैं। उन्होंने कहा कि सवर्णों का लाठीचार्ज तो बहाना है जल्दी से सीट बंटवारा कराना है। उधर, कांग्रेस ने इस मामले पर भाजपा पर राजनीतिक स्वार्थ के लिए सवर्णों को इस्तेमाल करने का आरोप लगाया है। कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता सरोज तिवारी ने केंद्र और राज्य सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा है कि अश्विनी चौबे सवर्णों के वोट लेने के लिए तो श्याम रजक अनुसूची जाति जनजाति के वोट में फूट से डरकर ऐसी बयानबाजी कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि जब लाठीचार्ज हुई थी तो तुरंत इसका निंदा क्यों नहीं किया गया।

गौरतलब है कि एससी एसटी अधिनियम को पुराने स्वरूप में पुनः लागू किए जाने के विरोध में 6 सितंबर को आयोजित अब भारत बंद के दौरान गिरफ्तार किए गए लोगों की रिहाई की मांग को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को ज्ञापन सौंपने जा रहे स्वर्ण सेना के लोगों पर पुलिस ने जमकर लाठियां भांजी। स्वर्ण सेना के लोगों द्वारा पटना के कारगिल चौक से होते हुए जेपी गोलंबर से जैसे ही आगे बढ़े तो डाक बंगला चौराहे पर पूर्व से ही लाठी चार्ज करने के इरादे से पूरा इंतजाम कर पटना पुलिस ने स्वर्ण सेना के लोगों को घेर कर जमकर पीटा। जिसमें कई लोगों के घायल होने की बात भी बताई गई थी। इस मामले पर सत्ताधारी दलों द्वारा कोई प्रतिक्रिया नहीं व्यक्त किए जाने के बाद जगह-जगह विरोध प्रदर्शन किए जा रहे हैं नेताओं को काले झंडे दिखाए जाने के बाद भाजपा का रुख नरम पड़ा है जिसके बाद समर्थन में उतरे अश्विनी चौबे को जनता दल यूनाइटेड ने सिरफिरा बताया है। इसके पूर्व सवर्णों के द्वारा इस अधिनियम के विरोध में  किए गए भारत बंद के तुरंत बाद भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने सवर्णों के विरोध पर चिंता जताया था। भारतीय जनता पार्टी के सूत्रों के मुताबिक भाजपा के राष्ट्रीय परिषद की बैठक में भी इस मुद्दे पर चर्चा किया गया था हालांकि आधिकारिक रूप से इस मुद्दे पर हुई बातचीत का ब्यौरा नहीं सौंपा गया।

हम एक स्वतंत्र मीडिया हैं एवं मीडिया को निष्पक्ष रह कर रिपोर्टिंग करने एवं चलाने के लिए धन की जरूरत होती है। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए कृपया आर्थिक मदद करे।

Donate Now     Donate via Paypal

Tags: #JDU    #Congress    #BJP    #Bihar    #Ashwini Kumar Choubey   

About हितेश कुमार
हितेश कुमार इंडिया-पॉलिटिक्स में बतौर फ्रीलांसर कार्यरत है। ये पौथु (बिहार) के रहने वाले है। हितेश पत्रकारिता में अभिरुचि होने के कारण विभिन्न विषयों पर अपने विचार लिखने की काबिलियत रखते है। इन्होने पत्रकारिता के क्षेत्र में एम.ए. की डिग्री प्राप्त कर, विभिन्न मीडिया हाउस में कार्य किया है। Email- hiteshkumarminku@gmail.com

Related News

राजस्थान की इन सीटो पर हावी है वंशवाद, हर सीट पर एक खास परिवार का बना है वर्चस्व

लोकसभा चुनाव 2019 1 day ago

मोदी ने कांग्रेस पर साधा निशाना- 'बाटला हाउस कांड शहीदों का अपमान नहीं था'

लोकसभा चुनाव 2019 1 day ago

मोदी के गोद लिए गांव में विकास की ये है हालत, जर्जर पड़ा है जयापुर

लोकसभा चुनाव 2019 1 day ago

मोदी को एमपी के जबलपुर में जनसभा के लिए नही मिली अनुमति, प्रतिनिधि मंडल ने दर्ज की शिकायत

लोकसभा चुनाव 2019 1 day ago
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.OK
×

Subscribe Our Newsletter